चैम्पियंस ट्रॉफी : कोहली का टीम को संदेश, पूरी आक्रामकता से खेलें

लंदन, 7 जून (आईएएनएस)। आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में गुरुवार को श्रीलंका से भिड़ने से पहले भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपनी टीम से इस अहम मैच में आक्रामकता के साथ खेलने की बात कही है।

कोहली ने साथ ही कहा कि इस मैच में टीम को अपनी फील्डिंग में सुधार करने की जरूरत होगी।

भारत ने अपने पहले मैच में पाकिस्तान को 124 रनों से मात देते हुए टूर्नामेंट का शानदार आगाज किया है। हालांकि इस मैच में टीम की फील्डिंग काफी खराब रही थी और खिलाड़ियों ने कुछ आसान कैच छोड़ने के साथ-साथ फील्डिंग में रन भी लुटाए थे।

कोहली ने अपनी टीम को आत्मसंतुष्ट न होने की सलाह भी दी है।

मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में कोहली ने कहा, आईसीसी टूर्नामेंट में श्रीलंका ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। अगर आप उनके बीते कुछ वर्षो के रिकार्ड देखेंगे तो पता चलता है कि वह हमेशा सेमीफाइनल तक गए हैं।

कोहली ने कहा, उनके पास अच्छे प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं। वह युवा टीम है लेकिन, उनके पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैच जिताने वाला प्रदर्शन कर सकते हैं।

कोहली ने कहा, आक्रामक होकर खेलने और मैच को खत्म करने की जरूरत है क्योंकि जिस टीम की बल्लेबाजी गहरी हो वो अंत में 60-70 रनों की साझेदारी कर सकती है। इस तरह के टूर्नामेंट में हमें इस तरह की चीजों पर ध्यान देना होगा। साथ ही हमें उन क्षेत्रों को पहचानने की जरूरत है जहां हमें ज्यादा मेहनत करनी है।

पाकिस्तान के खिलाफ अंत में आकर तूफानी बल्लेबाजी करने वाले हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या की कोहली ने तारीफ की और कहा कि वह निचले क्रम में एक पूर्ण बल्लेबाज की तरह बल्लेबाजी करने जाते हैं।

कोहली ने कहा, हार्दिक भारतीय क्रिकेट के लिए काफी अहम हैं। 140 किलोमीटर की रफ्तार को छूने वाला गेंदबाज और अंत में बड़े शॉट लगाने वाला बल्लेबाज, यह दोनों एक ही खिलाड़ी में पाना काफी मुश्किल है। वह पूरी पारी तक बल्लेबाजी कर सकते हैं, यह हमने अभ्यास मैच में देखा था। इस तरह की काबिलियत वाले खिलाड़ी को ढूंढना बेहद मुश्किल है।

उन्होंने कहा, जब आपके पास उस जैसा खिलाड़ी होता है तो आपको इस बात को सुनिश्चित करना होता है कि वह हमेशा सकारात्मक रहे और अपना सौ फीसदी देने को प्रतिबद्ध रहे। यह उनका स्वभाव भी है।

उन्होंने कहा, हार्दिक निचले क्रम में एक पूर्ण बल्लेबाज की तरह जाते हैं। वह जिस तरह का संतुलन टीम में लाते हैं, वह अनमोल है। इसका उदाहरण हमें पिछले मैच में देखने को मिला था।

मैच से पहले टीम संयोजन पर कोहली ने कहा, हमने अभी तक इस पर बात नहीं की है। हम यह देखना चाहते हैं कि उनके बल्लेबाज अलग-अलग गेंदबाजों के खिलाफ किस तरह खेलते हैं। इसके बाद ही हम टीम संयोजन पर फैसला करेंगे।

उन्होंने कहा, जब बल्लेबाजों को ऐसे गेंदबाज मिल जाते हैं जो विकेट निकाल सकते हैं तो उनका आत्मविश्वास बढ़ जाता है। हमारे पास ऐसे गेंदबाज हैं और इसी कारण हम अच्छी स्थिति में हैं। विपक्षी बल्लेबाजों को ध्वस्त करने वाले गेंदबाजों का होना हमारे लिए अच्छी बात है।

पाकिस्तान के खिलाफ कोहली ने रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी को अंतिम एकादश में शामिल नहीं किया था। इस पर कोहली ने कहा, अश्विन उच्च स्तरीय गेंदबाज हैं और काफी पेशेवर भी। वह समझते हैं कि हमने वह टीम क्यों चुनी और वह इससे खुश हैं। वह हमेशा टीम को पहले रखते हैं।

उन्होंने कहा, शमी ने काफी लंबे समय से 50 ओवरों की क्रिकेट नहीं खेली है। मैं इस बात से खुश हूं कि उन्होंने अभ्यास मैच में अच्छी गेंदबाजी की है।

भारतीय टीम अगर गुरुवार को होने वाले मैच में जीत हासिल करती है तो वह सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी। मेजबान इंग्लैंड ने पहले ही सेमीफाइनल में जगह बना ली है।

--आईएएनएस

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com