बीजू पटनायक को भारत रत्न मिलना चाहिए : देवगौड़ा

भुवनेश्वर, 27 जनवरी ,  दिवंगत बीजू पटनायक को भारत रत्न देने की अनुशंसा करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा ने आज कहा कि ओडिशा के दिग्गज नेता ने उन्हें कर्नाटक का मुख्यमंत्री और देश का प्रधानमंत्री बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री की चित्रात्मक जीवनी ‘‘द टॉल मैन बीजू पटनायक’’ का पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा विमोचन करने के बाद देवगौड़ा ने यह बात कही। देवगौड़ा ने दर्शकों की जोरदार ताली के बीच कहा, ‘‘उनके कार्यों एवं उपलब्धियों को देखते हुए मुझे लगता है कि बीजू पटनायक को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न मिलना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया की सरकार बीजू पटनायक को ‘‘भूमि पुत्र’’ पुरस्कार से नवाज चुकी है। दिवंगत नेता की प्रशंसा करते हुए देवगौड़ा ने कहा, ‘‘मुझे कर्नाटक का मुख्यमंत्री और भारत का प्रधानमंत्री बनवाने में बीजू पटनायक ने बड़ी भूमिका निभाई थी।’’ मुखर्जी ने खुद को ‘‘सबसे छोटा व्यक्ति’’ बताते हुए कहा, ‘‘देश के सबसे लंबे कद के व्यक्ति के बारे में बोलने का मुझे अवसर मिला है। वह न केवल कद में लंबे थे बल्कि बड़े दिल वाले व्यक्ति भी थे।’’ दिवंगत नेता के साथ अपने व्यक्तिगत संबंधों का जिक्र करते हुए मुखर्जी ने कहा कि राष्ट्रीय संकट के समय में बीजू पटनायक को भुवनेश्वर से नयी दिल्ली बुलाया जाता था। मुखर्जी ने बताया, ‘‘पार्टी लाइन से इतर बीजू पटनायक देश हित में मूल्यवान सुझाव देते थे। इंदिरा गांधी के मंत्रिमंडल में वित्त राज्यमंत्री के तौर पर मैंने विभिन्न अवसरों पर बीजू पटनायक से कई बार सलाह-मशविरा किया।’’ मुखर्जी ने बताया कि किस तरह बीजू पटनायक ने ओडिशा में नेशनल अल्युमिनियम कंपनी की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि बीजू पटनायक पर किताब विमोचन के लिए उन्हें जब निमंत्रण दिया गया तो वह काफी खुश हुए। आडवाणी ने कहा, ‘‘वह महान नेता थे। यह किताब उनके लिए बड़ा सम्मान है।’’ माकपा नेता सीताराम येचुरी ने याद किया कि किस तरह से युवा नेता के तौर पर उन्हें पटनायक से प्रेरणा मिली।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com