सेना को मिलेंगे डेढ सौ से अधिक बख्तरबंद वाहन

नयी दिल्ली 20 फरवरी :  सेनाओं को अत्याधुनिक हथियारों से लैस करने में लगी सरकार ने इन्फेन्ट्री के लिए डेढ सौ से अधिक बख्तरबंद वाहनों की खरीद सहित 1850 करोड़ रूपये के रक्षा सौदों को मंजूरी दी है। बख्तरबंद वाहनों की मदद से सैनिकों को बिना समय गंवाये अभियानों के लिए भेजने में बड़ी मदद मिलेगी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में आज यहां हुई रक्षा खरीद परिषद (डीएससी) की बैठक में इन सौदों को मंजूरी दी गयी। बैठक में नौसेना के लिए एक सर्वेक्षण जलपोत की खरीद को भी हरी झंडी दिखाई गयी। रक्षा सूत्रों के अनुसार सेना के लिए कुल 156 बख्ततरबंद वाहन बीएमपी-2 खरीदे जायेंगे जिनपर लगभग 1125 करोड़ रूपये की लागत आयेगी। इन्फेन्ट्री यूनिट के साथ साथ ये वाहन इंजीनियर्स और तोपखाना इकाईयों को भी दिये जायेंगे। इन का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि अब सैनिकोंं को जरूरत पड़ने पर कम समय में मोर्चों पर तैनात किया जा सकेगा। ये वाहन अायुध फैक्ट्रियों से खरीदे जायेंगे। इससे रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया की सरकार की योजना को भी बल मिलेगा। हिन्द महासागर में नौसेना की जल सर्वेक्षण संबंधित जरूरतों को देखते हुए उसके लिए एक सर्वेक्षण जलपोत की खरीद को भी मंजूरी दी गयी है। इस जलपोत का इस्तेमाल विशेष रूप से प्रशिक्षण के लिए किया जायेगा। नौसेना को बंदरगाहों और विशेष आर्थिक क्षेत्रों में सर्वेक्षण के लिए जलपोत की सख्त जरूरत है। यह जलपोत भारतीय शिपयार्ड कंपनियों द्वारा ही बनाया जायेगा और इस पर लगभग 626 करोड़ रूपये की लागत आने की संभावना है।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com