जीएसटी क्रियान्वयन दौरान के कर क्रेडिट दावा मामले में फार्म भरने की समयसीमा 30 जून तक बढ़ी

नयी दिल्ली, 29 मार्च( भाषा) सरकार ने जीएसटी लागू करने की प्रक्रिया के दौरान के कर क्रेडिटका दावा-फा र्म भरने की समयसीमा30 जून तक बढ़ा दी है। इसके साथ ही केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड( सीबीईसी) ने कंपनियों के लिये अंतिम बिक्री रिटर्न फार्म जीएसटीआर-1 भरने की समयसीमा अप्रैल से बढ़ाकर जून कर दी है। सीबीईसी ने जीएसटी ट्रान-2 फार्म जमा करने की समयसीमा30 जून तक के लिये बढ़ा दी है। यह संक्रमणकाल का फार्म है जिसमें कंपनियों को जीएसटी क्रियान्वयन की तारीख (एक जुलाई 2017) को अपने माल के स्टाक पर मानित कर क्रेडिट के दावों के दावे रखने हैं। वित्तीय सेवा परमर्श कंपनी ईवाई के भागीदार अभिषेक जैन ने कहा, ‘‘ समयसीमा बढ़ाने से कारोबारियों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है जिन्होंने उक्त फार्म भरने मेंदिक्कतें हुई हैं।’’ इसके अलावा जीएसटी परिषद के इस महीने किये गये निर्णय को प्रभाव में लाने के लिये सीबीईसी ने जीएसटीआर-1 भरने के लिये तारीख को भी अधिसूचित किया है। परिषद ने जून तक रिटर्न फाइल करने के लिये मौजूदा व्यवस्था को जारी रखने का फैसला किया था। इसके मुताबिक अप्रैल के लिये जीएसटीआर-1 को31 मई तक भरना होगा। वहीं मई के लिये10 जून तक भरने की जरूरत होगी। वहीं जून के लिये इसे10 जुलाई तक भरना होगा। भाषा
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com