कमजोर वैश्विक संकेतों से बीते सप्ताह सोने, चांदी में गिरावट

नयी दिल्ली, एक अप्रैल( भाषा) : स्थानीय आभूषण विक्रेताओं और फुटकर कारोबारियों की सुस्त मांग के बीच कमजोर वैश्विक संकेतों के कारण छुट्टियों के कारण कम कारोबारी सत्र वाले सप्ताह के दौरान राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार बीते सप्ताह सोने की कीमत में गिरावट आई। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं का उठाव कम होनेसे चांदी की कीमत भी गिरावट दर्शाती बंद हुई। शहर में सीलिंग अभियान के खिलाफ व्यापारियों ने विरोधस्वरूप प्रदर्शन किया जिसके कारण बुधवार को बाजार बंद रहे। इस हड़ताल का आह्वानकनफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) और आल दिल्ली टेडर्स एंड वर्कर्स एसोसिएशन ने किया था। ‘ महावीर जयंती’ के मौके पर गुरुवार को बाजार बंद रहे। बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशों में कमजोरी के रुख के अलावा घरेलू हाजिर बाजार में स्थानीय आभूषण विक्रेताओं के साथ साथ फुटकर कारोबारियों की सुस्त मांग के कारण मुख्यत: सोने की कीमतों में गिरावट आई। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना सप्ताहांत में गिरावट दर्शाता1,325 डॉलर प्रति औंस और चांदी कमजोरी के साथ16.35 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई। राष्ट्रीय राजधानी में लिवाली समर्थन के अभाव में99.9 प्रतिशत और99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की क्रमश: 31,800 रुपये और31,650 रुपये प्रति10 ग्राम पर कमजोर शुरुआत हुई। बाद में ये कीमतें बढ़कर क्रमश: 31,950 रुपये और31,800 रुपये प्रति10 ग्राम हो गईं और सप्ताहांत में485 - 485 रुपये की गिरावट दर्शाती क्रमश: 31,350 रुपये और31,200 रुपये प्रति10 ग्राम पर बंद हुईं। छिटपुट सौदों के बीच एक सीमित दायरे में घट बढ़ के बाद गिन्नी की कीमत सप्ताहांत में24,800 रुपये प्रति आठ ग्राम के पिछले सप्ताहांत के स्तर पर बंद हुई। लिवाली और बिकवाली के बीच उतार चढ़ाव भरे कारोबार के दौरान चांदी तैयार की कीमत400 रुपये की गिरावट दर्शाती सप्ताहांत में39,200 रुपये प्रति किग्रा जबकि चांदी साप्ताहिक डिलीवरी575 रुपये की गिरावट के साथ38,320 रुपये प्रति किग्रा पर बंद हुई। हालांकि, सीमित सौदों के बीच चांदी सिक्कों की कीमत लिवाल74,000 रुपये और बिकवाल75,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर स्थिरता का रुख दर्शाती पूर्व सप्ताहांत के स्तर पर ही बंद हुई।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com