आज है सोमवती अमावस्या, 27 सालो बाद आया ये योग, ना करें ये गलतियां वरना आ सकती है मुसीबत

अहमदाबाद : अप्रैल 16, सोमवती अमावस्या पर गुरु-चंद्रमा राजयोग बना रहे हैं। इसके बावजूद वृष, मिथुन, कन्या, धनु और मकर राशि वाले लोग परेशान हो सकते हैं। विषकुंभ नाम का अशुभ योग इन राशियों पर भारी रहेगा। जिससे इन 5 राशि वालों को नुकसान हो सकता है। कामकाज की टेंशन बढ़ेगी। विवाद की स्थिति बन सकती है। कामकाज में सावधानी रखें। पैसा उलझ सकता है। नौकरी और बिजनेस में गलत फैसले हो सकते हैं। 16 अप्रैल को इस बार सालों बाद सोमवती अमावस्या पर खास योग बन रहा है। इसलिए भूलकर भी ये गलती न करें। बैशाख मास के कृष्ण पक्ष में सोमवार को अश्विन नक्षत्र में सूर्य और चंद्रमा एक साथ आ रहे हैं। यह मेल तकरीबन 27 वर्ष बाद  बन रहा है। सोमवती सवेरे 7.22 बजे तक रहेगी, लेकिन स्नान शाम तक चलता रहेगा। इस दिन कहा जाता है कि बुरी आत्माएं विचरण करती हैं। इसलिए किसी भी इंसान को श्मशान घाट या कब्रिस्तान में या उसके आस-पास नहीं घूमना चाहिए। जिनके ग्रह कमजोर होते हैं, उनपर इससे बुरा असर होता है। विशेष योग है इसलिए इस दिन सूर्य को अर्घ्य जरूर दें। सूर्य को अर्घ्य देने से राजयोग मिलता है। इससे आपकी तरक्की के रास्ते खुलते हैं। इसलिए यह काम जरूर करें। सोमवती अमावस्या के दिन सुबह देर तक नहीं सोना चाहिए। इस दिन जल्दी उठकर स्नान कर पूजा पाठ करनी चाहिए। इससे आपके देव प्रसन्न होते हैं। अमावस्या के दिन आपको दान जरूर करना चाहिए। इससे आपके घर में धन की कमी नहीं होती है। जो लोग ऐसा नहीं करते हैं उनपर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इस दिन पुरुष और स्त्री को संयम बरतना चाहिए। कहा जाता है इस दिन अगर संबन्ध बनाए जाएं और उससे संतान की प्राप्ति हो तो वह कभी सुखी नहीं रहती है। इस दिन शराब और मांस इत्यादि से दूर रहें। शरीर पर तेल बिल्कुल भी न लगाएं। लहसुन-प्याज जैसी तामसिक चीजें भी न खाएं। इस दिन आप बाल कटाना, नाखून काटना आदि काम न करें। साथ ही शांत स्वाभाव से रहें। लड़ाई-झगड़े और वाद-विवाद से बचना चाहिए
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com