बिना कुंडली इन 10 संकेतो से मालूम करें आपकी कुंडली में शनि शुभ है या अशुभ

अहमदाबाद : मई  05,  कुछ ही दिनों बाद 15 मई को शनि जयंती है। शनि को न्याय का देवता माना जाता है। शनि ही हमें हमारे कर्मों का फल प्रदान करते हैं। जिन लोगों की कुंडली में शनि की स्थिति अशुभ होती है, उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कार्यों में बाधाएं आती हैं, किसी भी काम में पूरी एकाग्रता नहीं बन पाती है। शनि हर ढाई साल में राशि बदलता है। अभी ये ग्रह धनु राशि में है। राशि बदलने के बाद सभी 12 राशियों पर शनि का असर बदल जाता है। जिन लोगों की कुंडली में शनि अशुभ हो जाता है, उनके दैनिक जीवन में कुछ खास घटनाएं होने लगती हैं, जिनसे हम बिना कुंडली देखे ही ये अंदाजा लगा सकते हैं कि शनि अशुभ हो गया है।

1.जिसकी कुंडली में शनि अशुभ हो जाता है, उनके जूते-चप्पल बार-बार टूट जाते हैं या गुम हो जाते हैं।


2.व्यक्ति नया ज्ञान प्राप्त नहीं कर पाता है, पढ़ाई में मन नहीं लगता और इस क्षेत्र में कोई उपलब्धि भी प्राप्त नहीं हो पाती है।


3.यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि अशुभ हो तो उसका विवाह होते ही ससुराल पक्ष में कोई हानि हो सकती है।


4.यदि कोई व्यक्ति घर बनवा रहा है और कोई अशुभ घटना हो जाए तो ये भी शनि के अशुभ होने का संकेत है।


5.कुंडली में शनि अशुभ हो जाए तो व्यक्ति का मन बुराई की ओर, कुसंगति, नशे की ओर झुकने लगता है।


6.अशुभ शनि के कारण जमा धन का नाश होता है। कोई बीमारी हो सकती है, शरीर कमजोर हो सकता है।


7.कुंडली में शनि की विपरीत स्थिति के कारण व्यक्ति आलसी हो जाता है। इस कारण काम ठीक से नहीं हो पाते हैं और सफलता दूर हो जाती है।


8.जब किसी व्यक्ति के चेहरे पर हमेशा थकान, तनाव दिखाई देने लगे तो ये भी शनि के अशुभ होने का संकेत है।


9.शनि के कारण जवानी में ही व्यक्ति के बाल सफेद हो जाते हैं और बाल झड़ने लगते हैं। व्यक्ति को जोड़ों में दर्द हो सकता है।


 10.शनि अशुभ होने पर आंखें कमजोर हो जाती हैं, कमर दर्द की शिकायत हो सकती है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com