इंटरनेट साथी की पहुंच अब 1.5 करोड़ महिलाओं तक

नई दिल्ली, 21 मई (आईएएनएस)| ग्रामीण भारत में डिजिटल लैंगिक विभाजन और 1.5 करोड़ महिलाओं को सशक्त बनाने के बाद गूगल का इंटरनेट साथी कार्यक्रम चार नए राज्यों में विस्तार के लिए तैयार है। टाटा ट्रस्ट के साथ 2015 में एक पॉयलट परियोजना के रूप में शुरू किया गया 'इंटरनेट साथी' का ध्यान इंटरनेट इस्तेमाल के लिए महिलाओं को शिक्षित करना है। ये महिलाएं इसके बाद अपने समुदाय की दूसरी महिलाओं व आसपास के गांवों की महिलाओं को प्रशिक्षित करती हैं। इस कार्यक्रम ने ग्रामीण भारत में महिला व पुरुष अनुपात में डिजिटल लैंगिक विभाजन का सेतु बनने में योगदान किया है। इसकी वजह से महिला व पुरुष अनुपात 2015 के 10 में एक से 2017 में बढ़कर 10 में तीन हो गया और इससे 13 राज्यों में 1.5 करोड़ महिलाओं को सशक्त बनाया गया है। गूगल की दक्षिणपूर्व एशिया व भारत में विपणन की निदेशक सपना चड्ढा ने सोमवार को एक बयान में कहा, पिछले तीन सालों में कार्यक्रम ने न केवल डिजिटल लैंगिक अनुपात में सुधार करने में योगदान दिया है, बल्कि ग्रामीण भारत में बदलाव का एक बड़ा बल बन गया है। यह लाखों महिलाओं को प्रेरित कर रहा है, उनके परिवारों ने परिवर्तन को गले लगाया है और इंटरनेट से विभिन्न तरीकों से फायदा उठाया है, जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com