सांवली पड़ी त्वचा को निखार देंगे ये अचूक घरेलू उपाय, खिल उठेगा चेहरा

तेज घूप से सनबर्न और सन टेनिंग हो जाए तो ये तरीके आपके बहुत काम आएंगे। इससे आपकी रंगत फिर से लौट आएगी। आगे जानिए...

सबसे पहले तो ये कि धूप में निकलने से पहले आप छाते का प्रयोग जरूर करें। लेकिन फिर भी सनबर्न हो जाए तो आप इसके लिए घर पर ही आप अपनी त्वचा की रंगत को वापस ला सकते हैं। एप्पल साइडर विनेगर को एक कटोरी पानी में इसकी कुछ बूंदे डालकर रूई से स्किन पर लगाएं।  इसके बाद गुनगुने पानी से इसे धो लें।

नारियल का तेल और कपूर दोनों को मिलाकर सन बर्न वाली स्किन पर लगा दें। कुछ देर बाद इसके धो दें। अगर आपके घर में एलोवेरा का पौधा है तो आप इसका जैल लगाएं। इससे आपकी स्किन मॉइस्चराइज़र होती है। इससे आपकी स्किन पर बहुत जल्दी असर होता है।

थोड़े से बेसन में शहद और नींबू का रस मिलाकर लगाएं। इससे भी धूप में झुलसी हुई त्वचा की जलन शांत होती है। संतरे के छिलके दूध में पीसकर लगाएं इसमें मौजूद साइट्रिक एसिड आपकी स्किन का रंग बिल्कुल साफ दूध जैसा देता है। घर से बाहर निकलते समय हमेशा सनस्क्रीन लोशन लगाएं। चेहरे और गर्दन के अलावा हाथों पर भी लगाएं।

सनबर्न की परेशानी दूर करने के लिए आप हल्दी चंदन का लेप भी अपने चेहरे पर लगा सकते हैं। मुल्तानी मिट्टी को दूध में पेस्ट बनाकर लेप जैसा लगा ले और यह लेप आधे घंटे तक अपने चेहरे पर लगा रहने दें, और जब यह सूख जाए तो अपने चेहरे को ठंडे पानी से अच्छी तरह धो लें।

चेहरे से सन टैन, किसी भी रसभरे फल का रस जैसे नींबू का रस, संतरे का रस या टमाटर का रस लें। इस रस में रुई के बॉल डुबोकर शरीर के टैन्ड भाग पर लगाएं। ओट्स एवं छाछ को बराबर मात्रा में लें और अच्छे से मिलाएं। ओट्स को अच्छे से मसल लें और शरीर में स्क्रब की भांति लगाने के लिए इससे एक खुरदुरा पेस्ट बनाएं। अब इस मिश्रण को लें और झुलसी हुई त्वचा पर लगाएं। कुछ देर बाद ठन्डे पानी से इसे धो लें।

टमाटर और गीली हल्दी का रस धूप से उत्पन्न त्वचा का कालापन दूर करता है। पपीते के रस में नारियल का तेल मिलाकर चेहरे पर मालिश करें। तेज धूप से त्वचा काली पड़ जाए तो खीरे या ककड़ी का रस चेहरे पर लगाए। गर्मियों में चेहरे की देखभाल के लिए नीम के पत्तों को पीसकर उसमें पोदीने का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं, दस मिनट बाद धोकर बर्फ से चेहरे की मसाज करें।  
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com