ज्योतिष: 13 जून से पहले धारण कर ले श्री कृष्ण की प्रिय माला, खुल जायेंगे धन के द्वार

अहमदाबाद: मई 30,  अभी अधिक मास चल रहा है। इस पूरे महीने में भगवान विष्णु और उनके अवतारों की पूजा विशेष रूप से की जाती है। अधिक मास 13 जून तक चलेगा। भगवान श्रीकृष्ण हमेशा अपने गले में एक खास माला धारण किए रहते हैं। ये है वैजयंती की माला। शास्त्रों में बताया गया है कि श्रीकृष्ण को 6 चीजें विशेष प्रिय हैं। ये चीजें हैं गाय, बांसुरी, मोर पंख, माखन, मिश्री और वैजयंती माला। अगर आप 13 जून से पहले वैजयंती की धारण करेंगे तो आपकी कई परेशानियां भगवान की कृपा से दूर हो सकती हैं।

 वैजयंती पौधे से जुड़ी खास बातें



वैजयंती एक पौधे का नाम है। इसके पत्ते थोड़े लंबे होते हैं, चौड़ाई कम होती है। इसमें टहनियां नहीं होती हैं।



 वैजयंती में लगने वाले फूल लाल या पीले रंग के होते हैं। ये फूल गुच्छों में लगते हैं। फूलों के साथ ही छोटे-छोटे गोल दाने भी होते हैं, जो कि थोड़े कठोर होते हैं।



 इन कठोर दानों में छेद करके माला बनाई जाती है। इस माला को गले में धारण किया जाता है। ये माला किसी भी पूजन-सामग्री की दुकान से खरीदी जा सकती है।



माला से मिलते हैं कौन-कौन से लाभ



 मान्यता है कि जो भी व्यक्ति वैजयंती की माला धारण करता है, वह सुख-समृद्धि और धन-सपंत्ति प्राप्त करता है।



 वैजयंती माला को किसी भी सोमवार या शुक्रवार को पहन सकते हैं। धारण करने से पहले गंगाजल या शुद्ध जल से धो लेना चाहिए।



 जिन लोगों में आत्म विश्वास की कमी होती है, अगर वे लोग ये माला धारण करते हैं तो व्यक्ति का खुद पर विश्वास बढ़ता है।



 अगर मन की अशांति दूर करना चाहते हैं तो इस माला को पहनने से मानसिक शांति प्राप्त होती है।



 इस माला के असर व्यक्ति बुरी नजर से बचता है और नकारात्मकता से भी रक्षा होती है।



Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com