मेहुल ने खुद के खिलाफ गैरजमानती वारंट रद्द करने के लिए याचिका दाखिल की

मुंबई, 24 जुलाई (वार्ता) गीतांजलि जेम्स के प्रोमोटर और पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी के आरोपी मेहुल चोकसी ने उसके खिलाफ जारी गैरजमानती वारंट को रद्द कराने के लिए विशेष अदालत में सोमवार को एक याचिका दाखिल की। चोकसी ने अपनी याचिका में कहा कि यदि उसे भारत लाया जाता है तो वह -मॉब लिंचिंग का (भीड की पिटायी का शिकार) शिकार हो सकता है। पीएनबी धोखाधड़ी के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के मामा मेहुल चोकसी ने इस याचिका में कहा है कि उसे न सिर्फ अपने पूर्व कर्मचारियों, देनदारों, बल्कि जिस जेल में उसे रखा जाएगा वहां के कर्मचारियों और कैदियों से जान का खतरा है। उसने कहा है कि वर्तमान स्थिति में कंपनी को चलाना असंभव है। ऐसे में न तो कर्मचारियों को पैसा दिया गया न ही देनदारों को उनका बकाया लौटाया गया। इसकी वजह से ये सभी उसके खिलाफ हो गए हैं।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com