पांच राज्यों के चुनाव परिणाम से बिहार की राजनीति हुयी गरम

पटना 12 दिसंबर(वार्ता) पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मिली करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस का कद बढ़ने से बिहार के महागठबंधन में ‘बड़े भाई’ की भूमिका को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ उसकी खींचतान शुरू हो गयी है। पांच राज्यों के चुनाव परिणाम आने के बाद राजद के मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक भाई वीरेन्द्र ने स्पष्ट तौर पर आज कहा कि कांग्रेस की जीत के बाद भी बिहार में राजद ही बड़े भाई की भूमिका में रहेगी। साथ ही उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि बड़े भाई से कोई बोलता है क्या। उनकी पार्टी के विधानसभा में 81 विधायक हैं इसलिये राजद ही बड़ा भाई का हकदार है। वहीं, कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि पांच राज्यों में मिले जनादेश ने यह साबित कर दिया है कि बड़ा भाई कौन है। कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है और उसका जनाधार भी मजबूत है। उन्होंने सवालिया लहजे मे कहा कि बिहार में कांग्रेस छोटा भाई कैसे हो सकता है। वर्ष 2019 में विधानसभा का नहीं बल्कि लोकसभा का चुनाव होना है। दूसरी ओर सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के वरिष्ठ नेता एवं विधान पार्षद् अशोक चौधरी ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) का बड़ा चेहरा बताया है। बिहार में गठबंधन कोई हो लेकिन बड़ा चेहरा श्री कुमार ही रहेंगे। उन्होंने कहा कि श्री कुमार जिस गठबंधन में रहते हैं चुनाव परिणाम अच्छा होता है। बिहार में जदयू ही बड़े भाई की भूमिका में है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पटना साहिब से सांसद एवं अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने चुनाव परिणाम पर आज कांग्रेस को बधाई देते हुये कहा कि पार्टी के अध्यख राहुल गांधी ने ने एक बार फिर अपना करिश्मा दिखा दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “सर जी, अब कृपया हमें बतायें को कौन ‘पप्पू’ है और वास्तव में कौन ‘फेकू’ साबित हुआ है।”
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com