2019: साल की आखिरी रात पर खाएं ये चीजें, आता है गुडलक

नई दिल्ली, 31 दिसंबर 2018, : नया साल 2019 आने वाला है और ऐसे में हर कोई अपने नए साल को खास बनाना चाहता है. केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में गुडलक के लिए लोग तरह-तरह के तरीके आजमाते हैं. इनमें से एक है 31 दिसंबर की रात पर कुछ ऐसी चीजें खाना जिन्हें गुडलक बढ़ाने वाला माना जाता है. तो आइए जानते हैं इन चीजों के बारे में जो लाते हैं गुडलक...

दालें-

साल की आखिरी रात पर हरी सब्जियां और दालें खाने से गुडलक आता है. दाल को आर्थिक संपन्नता से जोड़कर देखा जाता है क्योंकि ये सिक्कों की तरह गोल होती है और पानी में भिगोए जाने पर फूल जाती हैं. अमेरिका के कुछ हिस्सों में नए साल पर हॉपिन जॉन डिश बनाई जाती है.

केक या सिक्के वाले ब्रेड-

ग्रीस में नए साल पर केक या ब्रेड खाने की परंपरा है. इसे सिक्के के साथ पकाया जाता है. ऐसी मान्यता है कि जिसे सिक्के वाला केक मिलता है, उसे लकी माना जाता है. इस परंपरा में लोग आर्थिक संपन्नता के लिए केक काटते हैं.

फिश-

कुछ यूरोपीय देशों में नए साल पर 12 बजते ही फिश को खाए जाने का रिवाज है. मछली को भी तरक्की और समृद्धि से जोड़कर देखा जाता है क्योंकि ये एक बार में कई अंडे देती हैं.

अंगूर- कुछ यूरोपीय देशों और अमेरिका में लोग नए साल पर गुडलक के लिए 12 अंगूर खाते हैं ताकि साल के 12 महीनों में भाग्य का साथ मिलता रहे.

नूडल्स- नूडल्स लंबी आयु का प्रतीक है. चीन और जापान में नए साल की संध्या पर नूडल्स खाने की परंपरा है. इस परंपरा में नूडल्स को बिना तोड़कर खाया जाता है.

पोर्क-

क्यूबा में सुअर को तरक्की और सुख का प्रतीक माना जाता है. यहां नए साल पर पॉर्क खाना शुभ माना जाता है. लोग सुअर के आकार में कुकीज भी बेक करते हैं.

फल-

पीले-नारंगी फलों को भी आर्थिक संपन्नता का प्रतीक माना जाता है. चीन समेत कई देशों में लोग नए साल पर संतरा जैसे फल खाते हैं.

अनार-

एक ग्रीक परंपरा में नए साल से पहले लोग अनार खाते हैं. मान्यता के मुताबिक, फल में जितने ज्यादा बीज होंगे, उतना ज्यादा शुभ होगा. कुछ लोग नए साल पर सेब भी खाते हैं क्योंकि इसे प्रेम और फर्टिलिटी का प्रतीक माना जाता है.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com