खतरे में है आसिया बीबी की जान, अमेरिकी संसद में शरण देने का प्रस्ताव पेश

ईशनिंदा के आरोप से बरी हुई पाकिस्तान की ईसाई महिला आसिया बीबी (47) को अमेरिका में शरण देने का प्रस्ताव संसद में पेश किया गया है। अमेरिकी सांसद केन कालवर्ट ने संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में इस संबंध में एक प्रस्ताव रखा है। उनका कहना है कि ईसाई होने के कारण ही आसिया को जेल हुई और उन्हें धमकियां मिल रही हैं।
आसिया पर पड़ोसी मुस्लिम महिला के साथ झगड़े के दौरान ईशनिंदा का आरोप लगा था। इसके लिए 2009 में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और 2010 में ट्रायल कोर्ट ने ईशनिंदा का दोषी ठहराते हुए फांसी की सजा सुना दी थी। लाहौर हाईकोर्ट ने भी इस फैसले को बरकरार रखा था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल उनकी फांसी रद करते हुए उन्हें जेल से रिहा कर दिया। कट्टरपंथी इसका विरोध कर रहे हैं।
संसद में प्रस्ताव पेश करते हुए कालवर्ट ने पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया। आसिया की जान खतरे में होने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि संसद के साथ ही धार्मिक आजादी के समर्थकों को उनके पक्ष में खड़ा होना चाहिए।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com