अमेरिका की चेतावनी- अपनी जमीन पर आतंकी गतिविधियों को समर्थन देना तुरंत बंद करे पाक

नई दिल्ली. पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमलों में किसी भी तरह के हाथ की बात से इनकार किया है। पाक सरकार ने प्रेस रिलीज जारी कर इसे गंभीर चिंता का विषय बताया। दूसरी तरफ अमेरिका के राष्ट्रपति भवन की तरफ से पाकिस्तान को नाम लेकर चेतावनी दी गई है। व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने कहा कि पाक तुरंत अपनी जमीन से चलने वाले आतंकी संगठनों को समर्थन देना बंद करे। यह सिर्फ क्षेत्र में हिंसा और आतंक को बढ़ावा देते हैं।
वहीं अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने भी अपने बयान में पाकिस्तान का नाम लेते हुए कहा कि सभी देशों को आतंक के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के तहत अपनी जिम्मेदारियां समझनी होंगी और आतंकियों की पनाहगाह बनना बंद करना होगा। हम आतंकवाद से मुकाबले के लिए हर स्थिति में भारत के साथ खड़े हैं। संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी घोषित किए जा चुके पाकिस्तान के जैश-ए-मोहम्मद ने इस जघन्य हमले को अंजाम दिया। पीड़ितों के परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमले की निंदा
रूस, इजरायल, फ्रांस, मालदीव, बांग्लादेश, थाइलैंड, श्रीलंका, चेक रिपब्लिक, कनाडा और कई अन्य देशों ने जवानों की शहादत पर दुख जताया है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हमले में मारे गए जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई। पुतिन ने कहा कि इस हमले के जिम्मेदार लोगों को सजा मिलना बेहद जरूरी है। हम इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं।
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि ढाका हमेशा आतंकी गतिविधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस पॉलिसी कायम रखेगा। घायलों के जल्द ठीक होने के लिए हम प्रार्थना करते हैं। वहीं भारत में इजरायल के राजदूत रॉन माल्का ने हमले में मारे गए जवानों के परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए कहा कि हम इस मुश्किल घड़ी में भारत के साथ हैं।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com