पहले भी ब्याज समेत लौटाया था, अब भी ब्याज समेत लौटाऊंगा, पूरा हिसाब होगा: मोदी

पुलवामा आतंकी हमले पर प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर ये समझता है कि जैसे घृणित कृत्य वह कर रहा है और जिस तरह की साजिशें रच रहा है, उससे वह हमारे देश में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वो बहुत बड़ी भूल कर रहा है। पहले भी ब्याज समेत लौटाया था, अब भी ब्याज समेत लौटाऊंगा, पूरा हिसाब होगा
पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा, '' पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर यह समझता है कि जिस तरह के कृत्य वह कर रहा है, जिस तरह की साजिशें कर रहा है, उससे भारत में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वह बहुत बड़ी भूल कर रहा है।
उन्होंने कहा कि इस समय बड़ी आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहे हमारे पड़ोसी देश को यह भी लगता है कि वह ऐसी तबाही मचाकर, भारत को बदहाल कर सकता है। उसके ये मंसूबे भी कभी पूरे नहीं होंगे।
मोदी ने कहा कि 130 करोड़ हिंदुस्तानी ऐसी हर साजिश, ऐसे हर हमले का मुंहतोड़ जवाब देंगे।
उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बाद, अभी मन: स्थिति और माहौल दुःख और साथ ही साथ आक्रोश का है। ''ऐसे हमलों का देश डटकर मुकाबला करेगा, रुकने वाला नहीं है। हमारे देश के जिन वीरों ने अपने प्राणों की आहुति दी है, उनके सपनों को पूरा करने के लिए हम अपने जीवन का पल-पल खपा देंगे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि वह पुलवामा के आतंकवादी हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। उन्होंने देश की सेवा करते हुए अपने प्राण न्योछावर किए हैं। दुःख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं, उनके परिवारों के साथ हैं।
उन्होंने कहा कि इस हमले की वजह से देश में जितना आक्रोश है, लोगों का खून खौल रहा है, यह समझ रहा हूं। ''इस समय जो देश की अपेक्षाएं हैं, कुछ कर गुजरने की भावनाएं हैं, वो स्वाभाविक हैं। हमारे सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दी हुई है। हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है।
मोदी ने कहा, ''मुझे पूरा भरोसा है कि देशभक्ति के रंग में रंगे लोग सही जानकारियां भी हमारी एजेंसियों तक पहुंचाएंगे, ताकि आतंक को कुचलने में हमारी लड़ाई और तेज हो सके।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका सभी साथियों से अनुरोध है कि यह वक्त बहुत संवेदनशील और भावुक है। सभी राजनीतिक छींटाकशी से दूर रहें। इस हमले का देश एकजुट होकर मुकाबला कर रहा है। देश का एक ही स्वर है और यही पूरे विश्व में सुनाई देना चाहिए क्योंकि लड़ाई हम जीतने के लिए लड़ रहे हैं।
गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में सबसे बड़े आतंकी हमले में पुलवामा के पास गुरुवार को सीआरपीएफ के 45 जवान शहीद हो गए। हमले के वक्त 2547 जवान 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे। इसी दौरान जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदी कार से उनकी बस में टक्कर मार दी। धमाका इतना जबरदस्त था कि बस के परखच्चे उड़ गए। करीब 10 किलोमीटर तक धमाके की आवाज सुनाई दी थी। जिसके बाद इस घटना की पूरी दुनिया में निंदा की जा रही है।
उधर, पीएम मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक के बाद केन्द्रीय वित्तमंत्री अरूण जेटली ने कहा कि पाकिस्तान को कूटनीतिक स्तर पर अलग-थलग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया गया है।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com