टिकट के लिए टकटकी के बाद सुमित्रा महाजन की चिट्ठी- पार्टी असमंजस में, नहीं लड़ना चुनाव

मध्य प्रदेश की इंदौर लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी ने अभी तक किसी उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया है. इससे मौजूदा सांसद और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन खासी नाराज हैं. उन्होंने एक पत्र जारी करते हुए कहा कि वह इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी. साथ ही उन्होंने सवाल भी किया कि अभी तक प्रत्याशी का ऐलान क्यों नहीं किया गया है. एक पत्र जारी करते हुए उन्होंने इस बात का ऐलान किया. सुमित्रा महाजन ने सवाल किया कि उनकी पार्टी ने इंदौर लोकसभा सीट से अभी तक प्रत्याशी का ऐलान क्यों नहीं किया है, क्या पार्टी को किसी तरह का संकोच हो रहा है. उन्होंने पूछा कि अनिर्णय की स्थिति क्यों है? लोकसभा स्पीकर ने कहा कि शायद पार्टी को निर्णय लेने में कोई संकोच हो रहा है, मैंने पहले ही ये फैसला उनपर छोड़ दिया था. इसलिए वह ऐलान कर रही हैं कि वह खुद चुनाव नहीं लड़ेंगी, ताकि पार्टी बिना किसी संकोच के साथ निर्णय ले सके. आपको बता दें कि सुमित्रा महाजन इंदौर लोकसभा सीट से लगातार 8 बार चुनाव जीत चुकी हैं. उनकी उम्र 75 पार हो चुकी है, इसलिए ऐसी बातें सामने आ रही थी कि पार्टी इस बार उन्हें टिकट नहीं देना चाहती है. हालांकि, उनकी जगह उम्मीदवार कौन होगा, इस पर अभी तक फैसला नहीं हुआ है. मध्य प्रदेश की कुल 29 लोकसभा सीटों पर इस बार चार चरण में चुनाव हो रहे हैं. मध्य प्रदेश में 29 अप्रैल, 6, 12 और 19 मई को मतदान होगा. गौरतलब है कि इससे पहले भी टिकट को लेकर कई वरिष्ठ नेता सवाल उठा चुके हैं. भारतीय जनता पार्टी ने इस बार किसी भी 75+ उम्र वाले नेताओं को टिकट नहीं दिया है. इनमें लालकृष्ण आडवाणी की गांधीनगर, मुरली मनोहर जोशी का कानपुर, शांता कुमार का हिमाचल प्रदेश से टिकट काटा गया है. आडवाणी की जगह इस बार भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ रहे हैं. सुमित्रा महाजन से पहले मुरली मनोहर जोशी भी टिकट ना मिलने से खफा हो चुके हैं. मुरली मनोहर जोशी ने तब कहा था कि उन्हें चुनाव नहीं लड़ने के लिए कहा गया है, लेकिन वह इस बात से खफा थे कि पार्टी अध्यक्ष ने उन्हें खुद इस बात की जानकारी नहीं दी थी.
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com